मैंने हॉट क्लासमेट की गांड मारी

कॉलेज गर्ल बट्ट सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरी क्लास की एक लड़की के चूतड़ मुझे पसंद आ गये. मैं उसकी गांड मारना चाहता था. मैंने उसे कैसे पटाकर उसकी गांड मारी?

मेरा नाम अद्विक राणा है. मेरी उम्र 21 साल है. मैं हिमाचल के कुल्लू का रहने वाला हूँ. दिखने में गोरा हूँ और मेरी हाइट 5 फुट 7 इंच है. मेरे लंड का साइज़ बड़ा है.

ये कॉलेज गर्ल बट्ट सेक्स स्टोरी एक साल पहले उस वक्त की है जब मैं सेकंड इयर में था.

मेरी क्लास में एक लड़की आमिरा थी. उसको मैं बहुत ज़्यादा पसंद नहीं करता था.
हालांकि वो दिखने में हॉट थी, उसकी गांड बड़ी और काफी सेक्सी थी.

उसके पीछे मानो पूरा कॉलेज पड़ गया था.
मेरा एक दोस्त, जिसका नाम अनूप था, वो उसको सच्चा प्यार करता था.

एक दिन ऐसा हुआ कि वो जींस पहन कर आई थी.
मैं ऐसे ही इधर उधर देख रहा था.

उसका पेन नीचे गिर गया, वो नीचे झुकी.
उसी वक्त मेरी नज़र उसकी गांड पर जा पड़ी.
उसकी मस्त गांड देख कर मेरा लंड तत्काल खड़ा हो गया.

उस टाइम मन किया कि यहीं इसकी गांड मार दूँ.
बड़ी मुश्किल से मैंने खुद को कंट्रोल किया.

उस दिन से मैं उसको रोज देखने लगा था.
कुछ दिन बाद मैंने फ़ेसबुक में उसे फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज दी.
हमारे बीच थोड़ी बातें होने लगीं.

मैं तो उसको चोदने की फिराक में था.
मुझे सेक्सी गांड वाली लड़कियां बहुत पसंद हैं.

कुछ दिन ऐसे बीत गए.
मैं उसकी गांड को अपने ख्याल में लाकर बट्ट सेक्स करने की सोच कर मुठ मार लेता था.
उसकी गांड का उठान मुझे रोज उसको चोदने की तड़प बड़ा देता था.

एक दिन मुझे मौका मिला.
मैंने उसको ऐसे ही आई लव यू बोल दिया.
मुझे तो उसको बस चोदना था, लव किसे था.

उस दिन उसने कुछ नहीं कहा.

मगर अब धीरे धीरे मैं उससे सेक्सी बातें करने लगा.
मैंने उससे पूछा- तुम्हारा कभी कोई ब्वॉयफ्रेंड रहा है?

उसने मना कर दिया.
उसने मेरे आई लव यू का जवाब भी नहीं दिया था.

एक दिन मैंने उसको पूछा- तुमने कभी मास्टरबेशन किया है?
उसने बोला- वो क्या होता है?

वो बड़ी चालाक बन रही थी.
आजकल की लड़कियों को ये पता हो ना हो कि देश में क्या चल रहा है. पर उनको मास्टरबेशन के बारे में पता ना हो, ये हो नहीं सकता.
मैं चुप रहा.

फिर एक दिन मैंने उससे उसकी न्यूड पिक मांगी.
उसने मना कर दिया और बोली- मैं ऐसी लड़की नहीं हूँ.

बहुत ज़्यादा मनाने के बाद उसने एक पिक दी. उसके बूब्स काफ़ी बड़े थे. मुझे उसके मम्मों को चूसने का बहुत मन किया.
एक हफ्ते तक ऐसा ही चलता रहा.

अब धीरे धीरे वो भी सेक्सी बातें करने लगी थी.

एक दिन मैंने पूछा- एक किस ले लूं क्या?
उसने मना कर दिया.

मैंने ऐसा मुँह बनाए वाला इमोजी भेजा, जैसे मैं नाराज़ हो गया हूँ.
फिर मैंने उसके मैसेज का रिप्लाइ नहीं दिया.

हम अच्छे दोस्त बन गए थे तो उसने मुझे मना लिया.
कुछ दिन बाद उसने मुझे दोबारा बुलाया.

उस दिन वो क्या माल लग रही थी. मुझे लगा कि मेरा रस यहीं निकल जाएगा.

उससे थोड़ी बातें हुईं.
मैंने उस दिन उससे फिर से किस के लिए कहा.

उसने बोला- चिल यार.
मैंने बोला- अगर तुम कंफर्टबल हो, तो किस दे दो!

उसने हां कर दी, पर कहा कि मैं उसे किसी सुनसान जगह पर किस करूं.
मैं उसे कॉलेज के साइड में बने एक खंडहर में ले गया.

वहां पहुंचते ही मैंने उसके गुलाबी होंठों को किस करना शुरू कर दिया.
ये हम दोनों का पहला किस था.

वो शुरू में थोड़ी सहज नहीं लग रही थी, लेकिन बाद में उसको भी अच्छा लगने लगा.
वो मेरा साथ देने लगी.

हम दोनों ने 15 मिनट तक किस किया.
उसको बहुत अच्छा लगा.

उस दिन से मैंने उसको सेक्स करने के लिए मनाने की कोशिश शुरू कर दीं.

कुछ दिनों की कोशिश के बाद वो मान गई.
अब प्राब्लम ये थी कि सेक्स कहां करें.

मैंने अपने दोस्त से फोन पर कहा- भाई, एक दिन के लिए अपने रूम की चाबी दे दे.
हम दोनों की किस्मत अच्छी थी; उस दिन वो घर जा रहा था.

उसने कहा- भाई चाबी गमले के नीचे रखी है. मैं घर जा रहा हूँ. दो दिन बाद लौटूंगा.
मैं उसी समय आमिरा को दोस्त के रूम में ले गया.

उस दिन उसने ब्लैक जींस टॉप पहना हुआ था.
वो किसी अप्सरा से कम नहीं लग रही थी.

मैंने कमरे का दरवाजा लॉक किया और उसे पागलों की तरह किस करने लगा.

हम दोनों ने दस मिनट तक किस की.
फिर हम दोनों के कपड़े भी धीरे धीरे उतरने लगे.

वो थोड़ा शर्मा रही थी.
हम दोनों पूरे नंगे हो चुके थे.

उसके नंगे दूध देखते ही मैं बेकाबू हो गया.
पागलों की तरह मैं उसके दोनों मम्मों को बारी बारी से चूसने लगा.

मुझे बहुत ज़्यादा मजा आ रहा था.
वो भी पूरी तरह से गर्म हो चुकी थी.

वो मादक आवाजें निकाल रही थी ‘उम्म्म आ आ उम्म आ आह …’

कुछ मिनट तक मैं उसके मम्मों को चूसता रहा.
वो भी मेरे सर को अपने मम्मों पर दबा कर मुझे दूध पिला रही थी.

अब मैं उसकी चूत पर टूट पड़ा. उसकी चूत को चाटने लगा. उसकी चूत में मैं अपनी जीभ फेरने लगा.
उसकी चूत का स्वाद नमकीन था.

उसकी मादक आवाजें मुझमें जोश भर रही थीं.
कुछ मिनट के बाद उसका पानी निकल गया. मैं उसकी चूत का पूरा पानी पी गया.

मैंने उससे अपना लंड मुँह मे लेने को कहा, वो मना करने लगी.

मैंने कहा- अगर अच्छा नहीं लगेगा, तो मत चूसना.
उसने लंड मुँह में ले लिया.

कुछ ही देर में वो मस्ती से लंड चूसने लगी.

फिर मैंने उसे 69 की पोज़िशन में आने को कहा.
वो आ गई.
अब वो मेरा लंड चूस रही थी और मैं उसकी चूत!

मैं जैसे जन्नत में था.
उसको भी मजा आने लगा था.

कुछ देर के बाद मैंने अपना माल उसके मुँह में निकाल दिया और मैं ढीला पड़ गया.
साली बिना कुछ कहे माल खा गई.

थोड़ी देर बाद उसने मेरा लंड चूस कर फिर से खड़ा कर दिया.

अब वो जैसे लंड लेने की लिए तड़प रही थी.
वो अभी वर्जिन थी, उसकी चूत बहुत टाइट थी.

मैंने थोड़ा सा तेल लिया और उसकी चूत पर अच्छी तरह से लगा दिया.

फिर मैंने अपने लंड को भी तेल से चिकना कर दिया.
उसने मुझसे कंडोम लाने को कहा था लेकिन मैं जानबूझ कर नहीं लाया था.

मैं बिना कंडोम के उसे चोदना चाहता था.
मैंने मेडिकल स्टोर से गर्भनिरोधक दवा ले ली थी.

मैंने उसकी चूत पर अपना लंड लगा कर थोड़ा सा झटका दिया तो लंड फिसल गया.
उसकी चूत सच में बहुत टाइट थी.

मैंने लंड को पूरी तरह उसकी चूत में सैट किया और हल्का सा झटका दिया, तो लंड का सुपारा अन्दर चला गया.
उसकी चीख निकल गई.

मैंने थोड़ा सा झटका और दे दिया. मेरा एक इंच लंड चूत के अन्दर चला गया.

अब उसकी सील टूट गई थी और खून निकल रहा था.
वो भी दर्द के कारण रोने लगी थी.

मैं भी डर गया था.
खून बहुत ज़्यादा निकल रहा था मगर मैंने अपना लंड नहीं निकाला था.

वो आगे चुदाई के लिए मना करने लगी.
मैंने कहा- कुछ नहीं होगा, थोड़ी देर में तुझे मजा आने लगेगा.

मैं उसको किस करने लगा.
थोड़ी देर में उसका दर्द कम हुआ.

मैं धीरे धीरे लंड को अन्दर बाहर करने लगा.
अब उसको मजा आने लगा.

मैं भी जोश में आ गया था.
मैंने झटके तेज कर दिए.

उसकी मादक सिसकारियां मुझमें जोश भर रही थीं ‘उम्म्म आ आ आ उऊँ आह …’

दस मिनट की चुदाई के बाद मैंने उसको घोड़ी बनने को कहा.
वो सोच रही थी कि मैं उसकी चूत ही चोदूंगा, पर मैं आज उसके साथ बट्ट सेक्स करने की फिराक में भी था.

मैं उसकी नंगी गांड को देख कर पागल हो गया. मैं उसकी गांड चाटने लगा.
वो एकदम से हैरान हो गई पर उसे मजा आ रहा था इसलिए उसने कुछ नहीं कहा.

उसकी मादक सिसकारियां बहुत मजे वाली थीं. उसकी गांड का वो काला छेद मेरे लंड के आने का वेट कर रहा था.

उसने कहा- मैं गांड नहीं मरवाऊंगी. बहुत दर्द होगा.
मैंने कहा- मैं सिर्फ़ गांड चाटूंगा.

इससे वो बेफ़िक्र हो गई.

मैंने कुछ मिनट तक उसकी गांड चाट कर चिकनी कर दी.
वो सोच रही थी कि अब मैं उसकी चूत चोदूंगा.

पर मैं उसे उसकी गांड चुदाई का मजा देने वाला था.
मैंने बहुत सारा तेल उसकी गांड के छेद पर गिरा दिया, जो उसकी चूत तक पहुंच गया.

उसको लगा कि मैं चूत को चिकना करने के लिए गांड से तेल डाल रहा हूँ.

उसकी गांड बहुत चिकनी हो गई थी. साथ ही उसकी गांड बहुत ज़्यादा टाइट भी थी.
पर मैंने उसको इतना चिकना कर दिया था कि एक झटके में लंड अन्दर चला जाए.

मैंने पहले उसकी चूत में लंड डाला.

थोड़ी देर चूत चुदाई करने के बाद मैंने अपना लंड जल्दी से बाहर निकाला और उसकी गांड के ब्लैक होल में एक झटके में लंड पेल दिया.
वो चिल्लाने लगी.

उसे बहुत दर्द हो रहा था पर मैं कहां मानने वाला था.
उसकी गांड को चोदने का सपना जो मैंने देखा था, उसे आज पूरा करने का मौका था.

थोड़ी देर बाद उसको भी मजा आने लगा.

वो बोलने लगी- आंह ओर ज़ोर से चोदो.
मैं उसकी गांड को लगातार चोदे जा रहा था.

मैंने उससे पूछा- आमिरा, पीछे से मजा आ रहा है न!
वो बोली- हां यार … मगर तू न बहुत बड़ा कमीना है. अपने मन की कर ही ली तूने!
मैंने हंस कर कहा- अबे यार मजा आ रहा है, तो थैंक्स बोल न.

वो गांड हिलाती हुई बोली- हां मजा तो आ रहा है. मगर एक बात बता, लड़कियों को गांड मराने में डर क्यों लगता है?
मैंने उसके दूध दबाते हुए कहा- साली, तेरी गांड भी तो फट रही थी. तू भी तो मना कर रही थी कि पीछे से मत करना.

वो हंसने लगी- हां यार … वो मैंने पोर्न में बहुत पढ़ा था कि गांड में लंड लेने से दर्द होता है.
मैंने कहा- अब एक बार शाही नवाबी शौक पाल लिया है न, तो तेरी गांड आए दिन लंड के लिए मचलेगी.

वो बोली- अरे तू है न साले … जब खुजली मचेगी तो तू ही मिटा देना.
मैंने कहा- हां वो तो है. शादी के बाद तू अपने हबी से भी पीछे से करवाएगी क्या?

वो बोली- मेरा हबी तू ही बनेगा.
मैं खुश हो गया और जोर जोर से उसकी गांड मारने लगा.

कोई पन्द्रह मिनट तक मैं उसकी गांड चोदता रहा. उसके बाद मैंने अपने माल को उसकी गांड में निकाल दिया.

पूरी चुदाई में दो बार मेरा पानी निकला.
उसकी गांड सूज चुकी थी, उससे चला नहीं जा रहा था.

मैंने रूम को साफ किया. हम दोनों ने खाना खाया और साथ में नहाए.
उस दिन हम दोनों ने 3 बार चुदाई की.

उसकी गांड का मैंने सुजा कर बुरा हाल कर दिया था.

मैंने उसे पेन किलर दे दी थी.
फिर हम दोनों सो गए.

दो घंटे तक हम दोनों को ऐसी गहरी नींद आई कि हमें कोई सुध ही नहीं रही.

फिर जब उठे तो उसका दर्द न के बराबर हो गया था.
हम दोनों वापस आ गए.

फाइनल इयर में उसके पापा का ट्रान्सफर दूसरी जगह हो गया.
वो शिमला चली गई.

कुछ दिन बाद पता लगा कि उसकी शादी हो गई. उसका पति आर्मी में है.
मुझे उसके बाद वो नहीं मिली.

दोस्तो, ये मेरी पहली और एकदम सच्ची बट्ट सेक्स कहानी है.
आपको अच्छी लगी होगी, मेल व कमेंट जरूर करें.
[email protected]

Leave a Comment

xxx - Free Desi Scandal - fuegoporno.com - noirporno.com - xvideos2020 - xarabvideos - bfsex.video